BPSC परीक्षा के पेपर लीक मामले में सीएम ने कड़ी कार्रवाई के दिए निर्देश, ईओयू ने की एफआईआर दर्ज

पटना: बीपीएसी परीक्षा में  पेपर लीक के वजह से  लाखो  युवक-युवतियों की कड़ी मेहनत पर पानी फिर गया। यहाँ तक की पेपर लीक की सुचना मिलते ही अभ्यर्थी फफक कर रो पड़े। आखिर कब तक युवाओ के भविष्य के साथ ऐसे ही खिलवाड़ होता रहेगा। इसकी जिम्मेवारी कौन लेगा। फिलहाल इसका जबाब किसी के पास नहीं है। हालांकि बिहार सरकार ने इस मामले में गड़बड़ करने वालो पर जल्द कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67 वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा (पीटी) के पेपर लीक मामले में आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने एफआईआर दर्ज कर ली गई  है। ईओयू (EoU) के मुताबिक़ पेपर लीक मामले की जांच के लिए गठित  एसआईटी टीम बनायी गई है जिसमे कई अन्य अफसर शामिल किए गए हैं। डीएसपी रैंक के अधिकारी को इस केस का आईओ बनाया गया है। एसपी ईओयू सुशील कुमार के नेतृत्व में एसआईटी इस मामले की जाँच करेगी।

इस मामले पर  जनता दरबार में मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कहा कोई भी कैसे प्रश्नपत्र लीक किया। इसे जिले को जो भेजा जाता है तो कहां से किस तरह से लीक हुआ है। इसकी पूरी जांच की जा रही है। कोई कैसे लीक किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि रविवार को जैसे ही मुझे जानकारी मिली, हमने अफसरों से बात की। हमने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि जल्द-से-जल्द इसकी जांच कीजिए। भविष्य में फिर ऐसी घटना नहीं हो, यह भी सुनिश्चित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.