बिहार विधान सभा में नितीश कुमार पर हुए हमले पर विपक्ष ने उठाया सवाल, DGP को हटाने की मांग की।

पटना: बख्तियारपुर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हुए हमले  पर सियासत तेज हो गयी। आज  बिहार विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही राजद विधायकों ने सीएम नीतीश पर हुए हमले का मुद्दा  उठाया। बिहार सरकार को घेरते हुए राजद विधायक ललित यादव ने कहा कि बिहार सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है। साथ ही साथ बिहार के डीजीपी पर भी सवाल उठाया गया है। यहाँ तक की  विपक्ष ने सुरक्षा में चूक मामले पर DGP को हटाने की मांग की।

वही इस मामले पर सदन में डिप्टी सीएम से तारकिशोर प्रसाद ने जानकारी देते हुए  कहा कि मुख्यमंत्री के साथ जो घटना घटी है वह काफी दुःखद है। उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले को देख रही है। सभी पहलुओं पर गौर कर रही है। अध्यक्ष विजय सिन्हा ने भी  कहा कि यह काफी चिंता वाली बात है लेकिन सरकार के जवाब के बाद भी विपक्ष शांत नहीं हुआ और देर तक हंगामा करता रहा।

बता दें कि रविवार को बख्तियारपुर के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और समाजसेवी पं. शीलभद्र याजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने मंच पर चढ़े थे उसी  दौरान एक व्यक्ति द्वारा सुरक्षा घेरा के बीच नीतीश कुमार की पीठ पर वार करते देखा गया। सुरक्षाकर्मियों ने उसे तुरंत खींच लिया और उसे  पकड़ लिया गया। जानकारी के अनुसार उक्त व्यक्ति का नाम शंकर कुमार वर्मा उर्फ छोटू है, जो मानसिक रूप से अस्वस्थ बताया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उक्त व्यक्ति के विरुद्ध कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने के लिए कहा और उसकी समस्या को समझकर समाधान करने व उसकी चिकित्सा में जरूरी सहयोग प्रदान करने का निर्देश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.