बिहार: नवादा जेल में बंद कैदी ने पास की IIT- जैम की परीक्षा, पूरे भारत में 54वां रैंक किया हासिल

नवादा: जेल में बंद कैदी सूरज कुमार ने ऐसा कुछ कर दिया जो हर किसी  के लिए संभव नहीं है। कहा जाता है कि अगर हौसला बुलंद हो और जिद्द हो कुछ कर गुजरने का तो इंसान के लिए कोई भी चीज असंभव नहीं है।  ऐसा ही कुछ अनहोनी कर दिया  नवादा मंडल कारा में बंद सूरज कुमार ने। दरअसल सूरज ने जेल में रहते हुए IT की ज्वाइंट एडमिशन टेस्ट फॉर मास्टर्स की परीक्षा में बड़ी सफलता हासिल की है। उन्होंने  IIT- जैम की परीक्षा में पूरे भारत में 54वां रैंक हासिल किये  है जो  अपने आप में एक बड़ा मिशाल है। अब वो  IIT रूड़की में दाखिला लेकर मास्टर डिग्री का कोर्स करेंगे ।

मंडलकारा अधीक्षक ने की मदद

बताया जा रहा है  सूरज की सफलता के पीछे का राज तत्कालीन मंडलकारा अधीक्षक अभिषेक कुमार पांडेय है। जिन्होंने  जेल के भीतर ही परीक्षा की तैयारी के लिए सूरज को किताबें और नोट्स समेत अन्य मैटेरियल उपलब्ध करवाए थे। जिसके बाद सूरज ने जेल के भीतर आकाश –  पाताल एक कर तैयारी की  और नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया। सूरज ने 13 फरवरी को पेरोल लेकर जेल से बाहर जाकर परीक्षा दी थी।

मौत के मामले में हुआ जेल

जानकारी के अनुसार सूरज  वारिसलीगंज के मोसमा गांव के अर्जुन यादव का बेटा  है जिसे लोग सूरज कुमार उर्फ कौशलेंद्र कुमार के नाम से जानते है । सूरज  पहले IIT जेईई की परीक्षा के लिए कोटा में रहकर एक साल तक तैयारी की थी। इसी बीच गांव में नाली विवाद को लेकर हुई मारपीट में एक व्यक्ति की मौत के मामले में सूरज को नामजद बना दिया गया। जिसके बाद  पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सूरज को 19 अप्रैल 2021 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

बता दे जेल के भीतर सूरज ने  काराधीक्षक का मोटिवेशनल स्पीच सुनकर प्रभावित होकर उसने काराधीक्षक से मुलाकात की जिसके बाद काराधीक्षक  ने परीक्षा की तैयारी में सूरज की हर संभव मदद दी और सूरज ने जेल के भीतर ही तैयारी कर कीर्तिमान स्थापित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.