बिहार के बेतिया में प्रियंका चोपड़ा-सनी देओल का बेटा कर रहा इंटरमीडिएट की पढ़ाई।।

बेतिया: अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा और सनी देओल के बेटे बिहार के बेतिया में इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर रहे हैं। यह सुनने के बाद आपके दिलो-दिमाग में एक साथ कई सवाल उठने लगे होंगे? मसलन, प्रियंका चोपड़ा-सनी देओल की शादी कब हुई? क्या प्रियंका चोपड़ा का कोई बेटा भी है? क्या प्रियंका चोपड़ा का बेटा इतना बड़ा हो गया? इससे पहले कि आप सवालों के समंदर में गोते लगाने लगें, यहां साफ कर दूं कि यह कोई बालीवुड गासिप नहीं, बिहार के शिक्षा व्‍यवस्‍था की हकीकत है। हम बात रहे हैं बेतिया स्थित राम लखन सिंह यादव महाविद्यालय के एक इंटरमीडिए छात्र की शैतानी करामात।

इंटरनेट मीडिया में शरारती छात्र का कापी वायरल

दरअसल, बिहार के अन्य जिलों की तरह ही पश्चिम चंपारण के बेतिया स्थित राम लखन सिंह यादव महाविद्यालय में भी इंटरमीडिएट सेंटअप की परीक्षा हुई। इसमें एक परीक्षार्थी ने शरारतन अपनी मां का नाम प्रियंका चोपड़ा और पिता का नाम सनी देओल लिख दिया। यह कापी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। लोग इस पर खूब कमेंट कर रहे हैं। साथ ही एक-दूसरे से सवाल भी कर रहे हैं कि क्या प्रियंका चोपड़ा-सनी देओल का बेटा बिहार से इंटर की पढ़ाई कर रहा है? लेकिन ये बात की पुष्टि बिग भारत नहीं करती है।

यह भी पढ़े: मुंगेर में बड़ा हादसा हुआ: छात्र-छात्राओं से भरे ऑटो को ट्रक ने मारी टक्कर, चार लोगों की मौके पर हुई मौत

उस परीक्षार्थी की शरारत का अंत वहीं पर नहीं हुआ। परीक्षा के दौरान एक सवाल पूछा गया था कि वह पुरातत्व से क्या समझता है। उसने लिख दिया कि यह मेरे मास्टर ने नहीं पढ़ाया है, मैं पुरातत्व से कुछ नहीं समझता हूं।

कालेज प्रशासन ने शुरू कर दी घटना की जांच

बहरहाल, कालेज प्रशासन ने घटना की जानकारी होने के बाद जांच शुरू कर दी है कि आखिर कापी इंटरनेट मीडिया तक कैसे पहुंची? इसके बाद जो किरकिरी हो रही है, उससे खुद को बचाने के उपाय में कालेज प्रशासन लग गया है। मनोरंजन की बात से इतर कुछ लोग इस घटना को सूबे की शिक्षा व्यवस्था को आईना दिखाने वाला बता रहे हैं।

यह भी पढ़े: दूल्हा के साथ मंडप में हुआ बड़ा बवाल , दूल्हा को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानें क्या है मामला

उनका मानना है कि जब बच्चों को पढ़ाया नहीं जाएगा और केवल परीक्षा ली जाएगी तो इस तरह की घटनाएं तो होंगी हीं। पढ़ाई से न केवल डिग्री मिलती है,वरना जीवन में अनुशासन भी आता है। पढ़ाई के अभाव में बच्चे एक साथ दोनों चीजें खोते जा रहे हैं।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.