मुजफ्फरपुर में पीएम मोदी समेत कई केंद्रीय मंत्रियो पर मुकदमा दायर, 6 अगस्त को होगी सुनवाई

  •      पीएम मोदी समेत कई केंद्रीय मंत्रियो पर मुकदमा दायर, 6 अगस्त को होगी सुनवाई
  •      बीजेपी नेताओ पर आर्टिकल 21,37,38,39 का खुल्लेआम उल्लंघन का आरोप

मुजफ्फरपुर: शुक्रवार को मुजफ्फरपुर के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई केंद्रीय मंत्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। इस मुक़दमे में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया व 50 अज्ञात के खिलाफ अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी-प्रथम पश्चिमी के कोर्ट में शुक्रवार को परिवाद दायर किया गया। इस मामले में 6 अगस्त 2022 को सुनवाई होगी।

Big  Bharat  ट्वीटर को फॉलो करे:

परिवाद जैतपुर ओपी पोखरैरा निवासी अधिवक्ता विनायक कुमार ने दाखिल किया है। अधिवक्ता विनायक कुमार के अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने बताया कि परिवाद में संविधान का उल्लंघन करने व मौलिक अधिकार का हनन आरोप लगाया गया है। इसमें कहा गया है कि देश की सार्वजनिक संस्थानों का निजीकरण कर समानता के अधिकार को छीना गया है। इससे देश में बेरोजगारी व अराजकता बढ़ी है।

यह भी पढ़े: Delhi High Court ने स्मृति ईरानी द्वारा दायर मुकदमे में कांग्रेस नेताओ को समन जारी किया, ट्वीट हटाने के दिए निर्देश

परिवादी अधिवक्ता विनायक कुमार की ओर से दर्ज मुक़दमे में आम नागरिकों के मौलिक अधिकार का हनन की बात कही गयी है । उनके रोजगार के अवसरों को खत्म किया गया है। भारत के संविधान के आर्टिकल 21,37,38,39 का खुल्लेआम उल्लंघन बीजेपी के इन नेताओं ने किया है।

अधिवक्ता ने बताया कि मौलिक अधिकार का हनन नहीं किया जा सकता। लगातार निजीकरण किया जा रहा है। सरकारीकरण का बढ़ावा देना है। निजीकरण नहीं करना है। संविधान के उल्लंघन को लेकर यह मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले पर अगली सुनवाई 6 अगस्त को होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.