Big Bharat-Hindi News

Pune Porsche Accident मामले में जज के फैसले पर डिप्टी CM देवेंद्र फडणवीस ने जताई हैरानी

Pune Porsche Accident: पुणे में 17 साल के नाबालिग आरोपी ने अपनी  पोर्श कार से टक्कर मरकर दो लोगो की जान ले ली । जिसपर आरोपी को 8 घंटे में ही कुछ शर्तो पर  बेल मिल गयी थी। जिसके बाद सोसल मिडिया पर बवाल मचा हुआ था। जज ने आरोपी को मात्र 15 दिनों की सोशल सर्विस और निबंध लिखने के शर्त पर बेल दे दिया था। वही अब इस मामले पर महाराष्ट्र के डिप्टी CM देवेंद्र फडणवीस ने हैरानी जताई है। उन्होंने कहा कि इतने गंभीर मामले में मात्र 15 दिनों की सोशल सर्विस और निबंध लिखने का ऑर्डर कैसे दिया गया।

Big Bharat  ट्वीटर को फॉलो करे

Pune Porsche Accident  मामले में डिप्टी सीएम  देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा दिलाया है कि पुलिस इंसाफ मिलने तक लगी रहेगी। उन्होंने कहा “जिस समय आरोपी लड़के को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश किया गया, बोर्ड ने उसमें बहुत ही लिनियंट व्यू लिया और दो लोगों के मरने के बावजूद भी केवल 15 दिन का सोशल सर्विस का काम दिया। जब जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के ऑर्डर को मैं देखता हूं, तो मुझे आश्चर्य होता है कि इतने गंभीर मामले में इस प्रकार का ऑर्डर कैसे दिया गया।”

वयस्क की तरह ट्रीट किया जा सकता है

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम फडणवीस ने बताया, “पुलिस ने जो एप्लिकेशन दी है, उसमें साफ शब्दों में कहा है कि ये लड़का 17 साल 8 महीने का है. ये जो अपराध है, वो जघन्य अपराध है। निर्भया कांड के बाद जुवेनाइल जस्टिस एक्ट में जो बदलाव आए हैं. उसमें 16 साल से ऊपर अगर विधि संरक्षित बालक है, लेकिन उसका अपराध जघन्य है, तो उसको वयस्क की तरह ट्रीट किया जा सकता है और उसको वयस्क ट्रीट करना चाहिए।

दीघा आयुष हत्याकांड: प्रिंसिपल ही निकला आरोपी, प्रिंसिपल ने कहा – हमलोग डर गए थे इसलिए……

उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले में ऊपर के कोर्ट में गई थी। ऊपर की कोर्ट ने इसका गंभीर संज्ञान लिया है। फडणवीस के मुताबिक इस मामले में जब तक न्याय नहीं मिलता, तब तक पुलिस कोर्ट के सारे रास्ते टटोलते रहेगी।

बता दें कि हादसे के बाद मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को पोर्श कार से टक्कर मारने वाले  नाबालिग आरोपी को कुछ शर्तों के तहत बेल दी गयी थी । शर्तों के आधार पर आरोपी को  में 15 दिनों तक ट्रैफिक पुलिस की सहायता करने के लिए कहा गया  और ‘सड़क दुर्घटनाओं के प्रभाव और इसके समाधान’ विषय पर निबंध लिखने को कहा गया और इस शर्त पर आरोपी को जमानत दे दी गयी। इसे लेकर लोगों में काफी गुस्सा है. मृतक के परिवार का कहना है कि बिजनेस टाइकून का बेटा होने के चलते आरोपी को बेल दे दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *