Big Bharat-Hindi News

बाराबंकी के बुढ़वल रेलवे स्टेशन पर ड्राइवर ट्रेन खड़ी करके चले गए , 4 घंटे फसे रहे यात्री

बाराबंकी के बुढ़वल रेलवे स्टेशन पर ड्राइवर ट्रेन खड़ी करके चले गए , कहा मेरी ड्यूटी ख़त्म हो गयी, जिससे यात्रियों का गुस्सा फुट पड़ा।

यूपी के बाराबंकी जिले से भारतीय रेलवे का  गजब का नजारा देखने को मिला।  ड्यूटी खत्म होने पर  ट्रेन के ड्राइवर ने रेलवे स्टेशन पर ट्रेन खड़ी कर दी और आराम करने चले गए।। करीब चार घंटे तक रेलवे स्टेशन पर खड़ी रहीं।रेलवे स्टेशन पर काफी गहमागहमी का माहौल है. यात्री रेलवे स्टेशन पर हंगामा कर रहे हैं. उनका कहना है कि हम-भूखे प्यासे यहां पर मर रहे हैं, लेकिन रेलवे को इसकी चिंता ही नहीं है. वहीं रेलवे स्टेशन पर दो ट्रेन खड़ी हो जाने के चलते अन्य यात्री ट्रेनें भी प्रभावित हुई हैं।

Big Bharat  ट्वीटर को फॉलो करे

दरअसल, मामला जिले के बुढ़वल रेलवे स्टेशन का है। सहरसा से नई दिल्ली जा रही स्पेशल ट्रेन बुढ़वल स्टेशन पर रोकी गई। मालगाड़ी क्रॉस होने के बाद यात्री ट्रेन के चलने का इंतजार करती रही। एक घंटा गुजरने के बाद यात्री पूछताछ करने लगे। पूछताछ करने के बाद पता चला की ड्राइवर और गार्ड की ड्यूटी समाप्त हो गई है और वो आराम करने चले गए । जिसके बाद यात्रियों को गुस्सा फुट पड़ा।

गुस्साए यात्रियों ने रेलवे स्टेशन पर ही हंगामा काटना शुरू कर दिया. यात्रियों को हंगामा करते देख रेलवे प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए. उन्होंने ड्राइवर से काफी मान-मन्नौवल की, लेकिन वह आगे ट्रेन ले जाने को तैयार ही नहीं हुआ. ड्राइवर ने कहा कि अब उसकी ड्यूटी खत्म हो चुकी है. इसलिए किसी दूसरे ड्राइवर की व्यवस्था कर ट्रेन को आगे की यात्रा के लिए भेजें।

 लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस भी आकर रुकी , ड्राइवर जाने को तैयार नहीं

वहीं दूसरे ट्रेक पर  पर लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस (15205) पहुंची। इस ट्रेन का ड्राइवर भी ड्यूटी टाइम खत्म होने का हवाला देकर आगे जाने से इनकार कर दिया। ट्रेन ड्राइवर ने कहा कि उसकी ड्यूटी के घंटे पूरे हो चुके हैं। उसे नींद आ रही है. इसलिए वह आगे ट्रेन लेकर नहीं जाएगा. जब दूसरी ट्रेन के खड़ी होने की जानकारी रेलवे विभाग सहित मौके पर मौजूद अधिकारियों को हुई तो उनके होश उड़ गए। अभी तक यह ट्रेन रेलवे स्टेशन पर ही खड़ी है।

CM Nitish के जनसँख्या नियंत्रण पर ‘सेक्स ज्ञान’ मामले में कोर्ट की सुनवाई टली, अब इस दिन होगी सुनवाई 

वहीं मामले को बढ़ता देख रेलवे प्रशासन ने आनन्-  फानन में गोड्डा से  लोको पायलट और गार्ड को बुलाकर ट्रेन को अपने गंतव्य के लिए रवाना किया। क्योंकि ट्रेन सहरसा से नई दिल्ली के लिए जा रही थी और हजारों यात्री ट्रेन में सवार थे।इस दौरान लगभग 4 घंटे यात्री फंसे रहे वे भूख प्यास से परेशान रहे। लगभग 4.50 बजे ट्रेन रवाना हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *