Big Bharat-Hindi News

PNB की एसिस्टेंट मैनेजर ने लगाई फांसी, अयोध्या में एसएसपी रहे आशीष समेत तीन को बताया मौत का जिम्मेदार

उत्तर प्रदेश: अयोध्या में PNB की सहायक प्रबंधक श्रद्धा गुप्ता (32) ने फांसी लगाकर जान दे दी। उनका शव शनिवार को उनके कमरे में फंदे से लटका मिला। राजाजीपुरम, लखनऊ निवासी श्रद्धा ने सुसाइड नोट लिखा है जिसमे अयोध्या के पूर्व एसएसपी आशीष तिवारी समेत तीन लोगों की इसका जिम्मेदार बताया है। पिता ने एफआईआर में तीनों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है। परिजनों ने देर रात पोस्टमार्टम के बाद सरयू के रामघाट पर श्रद्धा का अंतिम संस्कार कर दिया।

पुलिस के अनुसार श्रद्धा ने 2015 में पीएनबी की ख्वासपुरा शाखा में बतौर क्लर्क ज्वाइन किया था। प्रमोशन के बाद बछड़ा सुल्तानपुर स्थित मुख्य शाखा में असिस्टेंट मैनेजर बन गई थीं। वह बैंक के सामने ही किराए पर रहती थीं। चार भाई-बहनों में वह दूसरे नंबर पर थीं शनिवार को सुबह दूध वाले ने कमरे का दरवाजा खटखटाया। कोई आवाज न आने पर मकान मालिक को सूचित किया। दोनों ने साइड की खिड़की से झांका तो श्रद्धा दुपट्टे के के सहारे फंदे पर लटकी हुई थी।

सुसाइड नोट में इनका नाम

सुसाइड नोट में श्रद्धा ने विवेक गुप्ता, अनिल रावत, (पुलिस फैजाबाद) और आशीष तिवारी (एसएसएफ हेड, लखनऊ) को अपनी का जिम्मेदार ठहराया है। वही ट्विटर पर न्याय के लिए #JusticeForShraddha के नाम से ट्रेंड कर रहा है।

पिता के अनुसार श्रद्धा की शादी बलरामपुर के विवेक गुप्ता से तय हुई थी। पिता के अनुसार था कि विवेक की हरकतें खराब है। जब उसने विवेक से शादी तोड़ दी, वह श्रद्धा को परेशान करने लगा। पिता ने जब उसे समझाया तो विवेक ने पुलिस अफसरों की धौंस दी। श्रद्धा ने मां को बताया था कि विवेक बड़े-बड़े पुलिस अफसरों से फोन कराकर उसे धमकी देता था।

आशीष ने महिला को पहचानने से किया इनकार

एडीजी प्रशांत कुमार के अनुसार महिला ने अपने सुसाइड नोट में 3 लोगों के नाम लिखे हैं। इसमें अयोध्या के पूर्व एसएसपी आशीष तिवारी का नाम भी शामिल है। महिला के घर वालों का कहना है कि आशीष अपने रसूख की धौंस जमाते थे। इस बारे में आशीष तिवारी से भी बात को गई है। उन्होंने किसी भी महिला को जानने से इनकार किया। हाला की तफ्तीश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *