सिंधु बॉर्डर हत्या मामले में एससी (SC)  आयोग ने लिया संज्ञान , राष्ट्रीय अनुसूचित जाति गठबंधन के अध्यक्ष समेत अन्य समितियों ने सौपा ज्ञापन 

नई दिल्ली:  सिंघु बार्डर पर 35 साल  के लखबीर सिंह की बर्बरता पूर्ण हत्या पर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति (एससी) आयोग ने संज्ञान लिया है। एससी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भाजपा नेता विजय सांपला ने इस मुद्दे पर हरियाणा के DGP पीके अग्रवाल और पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के सचिव से बात की है। इस मामले से जुड़ी कानूनी प्रक्रिया एससी आयोग की निगरानी में होगी।

मृतक के परिवार को नौकरी और आर्थिक सहायता

दरअसल दलित समुदाय के लखबीर सिंह की बर्बर हत्या के मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति गठबंधन के अध्यक्ष परमजीत सिंह कैंथ ने शनिवार को एससी आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला से मिलकर ज्ञापन सौंपा। कैंथ का कहना था कि हरियाणा के बॉर्डर पर लखबीर सिंह की अमानवीय हत्या हुई। पंजाब में तरनतारन जिले के चीमा गांव के लखबीर सिंह का हाथ और पैर काट दिया गया। इसके बाद उसे 100 मीटर घसीटकर किसान आंदोलन के मंच के पास बैरिकेड से लटका दिया गया। बता दे मृतक लखबीर की 3 बेटियां हैं। उन्होंने  लखबीर सिंह के परिवार को कानूनी, आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी देने की मांग की।

मृतक लखवीर सिंह का परिवार

कैंथ ने पूरे घटनाक्रम को ‘तालिबान’ शैली की लिंचिंग करार दिया। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के 75 वर्ष बाद भी अनुसूचित जाति के लोगों को भेदभाव और असमानताओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि पूरा देश इस बात से हैरान है कि लोगों में आज भी इस तरह के जघन्य अपराध की कल्पना करने का दुस्साहस रखते है है, जैसा पूरी दुनिया ने सिंघु बॉर्डर पर देखा।

मौलिक अधिकार की हत्या

परमजीत कैंथ ने कहा कि इस अपराध को “धार्मिक बेअदबी’ से जोड़ने की कोशिश कर विवादास्पद बनाया जा रहा है। अपराधियों ने बिना किसी डर के एक व्यक्ति की बेरहमी से हत्या कर दी। भले ही कारण कुछ भी बताया गया हो, लेकिन देश में किसी को भी ऐसे अमानवीय अन्याय को अंजाम देने की इजाजत नहीं है। लखबीर की हत्या एक मायने में सांविधानिक मूल्यों की हत्या हुई है, जो अनुसूचित जाति समुदाय के अधिकारों और स्वतंत्रता के साथ-साथ अनुच्छेद 21 के तहत जीवन के मूल अधिकार की रक्षा करता है जो सभी की रक्षा करता है।

भारतीय बौद्ध संघ तथा अन्य समितियों ने की कार्रवाई की मांग

वही सिंघू बॉर्डर पर अनुसूचित जाति के युवक की बर्बर हत्या की हृदय विदारक घटना के सम्बन्ध में भारतीय बौद्ध संघ के एक शिष्ट मंडल ने आज राष्टीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष माननीय श्री विजय सांपला जी को ज्ञापन सौंपा एवं दोषियों पर कड़ी कार्य वाही की माँग की।

इसके अलावा  संत कबीर जन्मोत्सव समिति और जय बाबा राम पीर जन्मोत्सव समिति दिल्ली के एक प्रतिनिधिमंडल ने सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह की हत्या के मामले में कड़ी कार्रवाई के लिए एनसीएससी के अध्यक्ष श्री विजय सांपला को एक ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन मिलने के बाद एससी आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने पूरे घटनाक्रम को गंभीरता से लेते हुए तुरंत हरियाणा के अधिकारियों से बात की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.