गृह मंत्रालय ने अग्निवीरो को 10 प्रतिशत का दिया आरक्षण, साथ ही आयु में दी तीन वर्ष की छूट

नई दिल्ली:  अग्निपथ योजना का विरोध को देखते हुए गृह मंत्रालय (HMO India) की ओर  से  बड़ा ऐलान किया गया है। गृह मंत्रालय के इस ऐलान के मुताबिक अब अग्निवीरों को अर्द्धसैनिक बलों और असम राइफल्स में नौकरी के लिए 10 प्रतिशत का आरक्षण दिया जाएगा। इस बात की जानकारी केंद्रीय गृह मंत्री के कार्यालय से ट्वीट के जरिये  दी गई है। इसके साथ ही केंद्र सरकार  ने भर्ती के लिए अग्निवीरों को निर्धारित आयु सीमा में तीन वर्ष की छूट देने का भी निर्णय लिया है। वही  इस योजना के पहले बैच के लिए आयु सीमा में पांच वर्ष की छूट दी गयी।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय (HMO India )  के ट्वीट में लिखा गया है कि, ‘ गृह मंत्रालय ने CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में अग्निपथ योजना के अंतर्गत 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों के लिए 10% रिक्तियों को आरक्षित करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है’। आगे लिखा गया है कि ‘ साथ ही गृह मंत्रालय ने CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती के लिए अग्निवीरों को निर्धारित अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट देने का निर्णय लिया है और अग्निपथ योजना के पहले बैच के लिए यह छूट 5 वर्ष होगी’।

दिल्ली में जंतर मंतर पर प्रदर्शन का ऐलान

बता दें कि अग्निपथ योजना का विरोध का चौथा दिन है। बिहार समेत कई राज्यों से उग्र प्रदर्शन देखा गया है। इस योजना के विरोध में अब विपक्ष भी छात्रों को समर्थन दे रहे है। कांग्रेस इस योजना के विरोध में युवाओं के साथ एकजुटता दिखाते हुए कल दिल्ली के  जंतर मंतर पर ‘सत्याग्रह’ करने की घोषणा की है। बताया जा रहा है इसमें सभी सांसद, सीडब्ल्यूसी सदस्य और एआईसीसी पदाधिकारी इसमें हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़े: Deputy CM रेणु देवी और BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल को प्रदर्शनकारियो ने किया टारगेट, उनके आवास पर बोला हमला

वही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज तीनों सेना प्रमुखों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक करने वाले है । अब से कुछ  देर बाद  यानी 11 बजे से  यह बैठक होने वाली है । सूत्रों की मानें तो इस बैठक में अग्निपथ स्कीम को लेकर छात्रों के बीच जो भ्रम  है उसे खत्म करने पर चर्चा की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.