उद्योग मंत्री के प्रयास से बिहार को मिली सौगात, मुजफ्फरपुर में 78 एकड़ में बनेगा मेगा फ़ूड पार्क , सरकार ने दी मंजूरी

मुजफ्फरपुर: बिहार को केंद्र सरकार ने  बड़े तोहफे के रूप में मेगा फ़ूड पार्क की मंजूरी दी। बता दे की  मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में केंद्र सरकार की तरफ से एक मेगा फूड पार्क के निर्माण के लिए  मंजूरी दी गयी है। मुजफ्फरपुर के पास मोतीपुर में 78 एकड़ में नया फ़ूड पार्क का निर्माण होगा ।

यह भी पढ़े: बिहार के छपरा में ट्यूशन शिक्षिका को अज्ञात अपराधियों ने दिनदहाड़े 6 गोली मारकर की हत्या ,

दरअसल बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन और केंद्रीय कृषि  मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बिहार में फूड पार्क लगाने का ऐलान किया है । कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शाहनवाज हुसैन की प्रशंसा करते हुए कहा की बिहार सरकार में मंत्री बनने से पहले भी वे बिहार के विकास के बात करते थ। वही अब उद्द्योग मंत्री बनने के बाद लगातार विहार में निवेश के प्रयास में लगे है। बिहार में उद्योग और रोजगार को लेकर उन्होंने लगातार चर्चा की है।

केंद सरकार से की आग्रह

बता दे की शाहनवाज हुसैन ने असम चुनाव के दौरान केंद्र से आग्रह करते हुए कहा कि दो  मेगा फ़ूड पार्क में  से एक बिहार को मिलना चाहिए। इसी क्रम में केंद्र ने उनके आग्रह  को स्वीकार किया और 78 एकड़ में मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में मेगा फ़ूड पार्क की मंजूरी दी । इसमें  लगभग 400 करोड़ के निवेश होगा। जिसमे 100 करोड़ से ज्यादा भारत सरकार सहयोग करेगी बांकी बिहार सरकार निवेश करेगी। वही जमीन बिहार सरकार के बियाडा से लिया गया है ।

यह भी पढ़े: बिहार: नेता तेजस्वी यादव ने विधायकों की पिटाई का फिर से उठाया मामला , दोषी अधिकारियो को बर्खास्त करने की मांग को लेकर विधान सभा अध्यक्ष को लिखा पत्र

उद्योग मंत्री के मुताबिक  इस फूड पार्क से 5000 लोगों को रोज़गार मिलेगा शाहनवाज  हुसैन ने कहा कि 78 एकड़ में विकसित होने वाले इस मेगा फूड पार्क का इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने पर 103 करोड़ रुपये खर्च होंगे और इसके अंदर करीब 30 इंडस्ट्री यूनिट्स आएंगी । इन 30 इंडस्ट्री युनिट्स के आने के बाद करीब 300 करोड़ रुपए का अतिरिक्त निवेश यानी कुल 400 करोड़ का निवेश होगा । वही उन्होंने  इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का आभार व्यक्त किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.