वरुण गाँधी ने अग्निवीर को पेंशन से वंचित करने पर उठाये सवाल, पूछा-क्या हम विधायक/सांसद अपनी पेन्शन राष्ट्ररक्षकों के लिए छोड़ नही सकते ?

नई दिल्ली:  अग्निपथ योजना को लेकर वरुण गाँधी ने अपनी ही सरकार से सेना को पेंसन बंद करने पर सवाल उठाया है। बता दे शुरू से ही अग्निपथ योजना पर वरुण गांधी सरकार के इस फैसले पर लगातार सवाल कर रहे है। उन्होंने रक्षा मंत्री को  इस मुद्दे पर पत्र भी लिखा था जिसमे उन्होंने साफ़ कहा था सरकार को इस फैसले पर दुबारा विचार करना चाहिए।

वही अब उन्होंने ट्वीट कर सवाल पूछा है “अग्निवीर पेंशन के हकदार नही हैं तो जनप्रतिनिधियों को यह ‘सहूलियत’ क्यूँ? यहाँ तक की उन्होंने ये कह दिया की जब राष्ट्ररक्षकों को पेन्शन का अधिकार नही है तो मैं भी खुद की पेन्शन छोड़ने को तैयार हूँ।

sourc: ट्वीट वरुण गाँधी 

वरुण गाँधी ने अपने ट्वीट में लिखे है “अल्पावधि की सेवा करने वाले अग्निवीर पेंशन के हकदार नही हैं तो जनप्रतिनिधियों को यह ‘सहूलियत’ क्यूँ? राष्ट्ररक्षकों को पेन्शन का अधिकार नही है तो मैं भी खुद की पेन्शन छोड़ने को तैयार हूँ। क्या हम विधायक/सांसद अपनी पेन्शन छोड़ यह नही सुनिश्चित कर सकते कि अग्निवीरों को पेंशन मिले?

यह भी पढ़े: BJP MP Varun Gandhi ने ‘अग्निपथ योजना’ पर रक्षा मंत्री को लिखा पत्र, कहा- सरकार अपना पक्ष साफ़ करे।

बता दे कुछ दिन पहले भी  भी  उन्होंने वीडियो जारी करते हुए उन्होंने ट्वीट किया था जिसमे उन्होंने कहा था  जब एक नौजवान का सपना मरता है, तो पूरे देश का सपना मरता है। क्या 4 साल के पश्चात अग्निवीरों का सम्मानजनक पूनर्वास होगा? मेरा मानना है कि जब तक समाज के आखिरी व्यक्ति की आवाज न सुनी जाए, तब तक कोई भी कानून का निर्माण न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.