महिला की गला काटकर हत्या करने वाले साधु को पुलिस ने किया गिरफ्तार 1992 से ही इस साधु का आतंक इलाके में था

पश्चिम चंपारण: पश्चिम चंपारण के ​​​​​​​बगहा से बड़ी खबर सामने आई है, जहां महिला की गला काटकर हत्या करने के आरोप में साधु मोती लाल यादव को चौतरवा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जब लोगों को साधु की गिरफ्तारी का पता चला तो आरोपी को देखने के लिए थाने में लोगों की भीड़ जुट गई। आरोपी साधु मोती लाल पुलिस से बचने के लिए अपना वेश बदला लिया था। लेकिन उसकी यह चालाकी ज्यादा दिन तक  काम नहीं आई। गिरफ्तारी के बाद आरोपी ने अफसोस जताते हुए कहा कि हां मैंने गुनाह तो किया है।

साधु  का महिला से एकतरफा प्यार

दरअसल आरोपी एकतरफा प्यार में 23 सितंबर को गांव की एक महिला की उसकी दो बेटियों के सामने ही गला काटकर हत्या कर दी थी और भाग गया था। तब से पुलिस को आरोपी की तलाश थी। महिला की हत्या के बाद उसके परिजन और गांव के लोग साधु के भय से डरे हुए थे। साधु का इतना भय था कि गांव के लोग खेतों में जाने से पहले अपने साथ धारदार हथियार लेकर जाना नहीं भूलते थे। ऐसे में साधु के गिरफ्तारी से गांव के लोगों को काफी राहत मिली है।

अपना हुलिया बदला

बता दे पुलिस से बचने के लिए साधु ने पूरी तरह अपना हुलिया बदल लिया था। उसने अपने बाल और दाढ़ी को कटवा कर खुद को बिल्कुल बदल लिया था। हत्या करने के बाद साधु ने अपना नाम तक बदल लिया था। हालांकि वह अधिक दिनों तक पुलिस को चकमा नहीं दें पाया और आखिर में पुलिस के हाथ आ ही गया।

साधु के गिरफ्तार होने के बाद मृतका के परिजन काफी खुश है। मृतका के पति ने बताया कि अब मेरी पत्नी को शांति मिलेगी। घटना के बाद आज चैन से सो पाऊंगा। बता दें कि 1992 से ही इस साधु का आतंक इलाके में था। चर्चित व्याधा हत्याकांड में भी इसका नाम आया था और इस कांड में साधु मुख्य आरोपी था, इस मामले में उसे जेल भी हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.